Computer Full Form : Computer क्या है?

नमस्कार दोस्तों, कैसे है आप लोग आशा करता हु की आप सब अच्छे होंगे। आज के इस आर्टिकल में आप जानेगे की Computer क्या है? 

कप्यूटर आज कल हर जगह आपको देखने को मिल जायेगा वे चाहे हॉस्पिटल हो या स्कूल हो इसकी जरूरत सभी को पड़ती है। Computer  हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है.

स्कूल से लेकर ऑफिस तक में इसका इस्तेमाल रोजाना किया जाता है. और दैनिक कामकाज निपटाने के लिए घरों में भी कम्प्यूटर का उपयोग खूब किया जा रहा है. इसलिए हम सभी को अच्छी तरह से कम्प्यूटर का परिचय होना चाहिए.

इसीलिए आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम जानेगे की Computer क्या है? तो चलिए बिना देरी किये शुरू करते है 

Computer क्या है?

Computer क्या है?

Computer एक मशीन है जो डेटा की गणना, स्टोर करने और जानकारी का प्रबंधन करने के निर्देशों को संसाधित करता है। Computer हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से बने होते हैं.

Computer शब्द, Latin शब्द “Computer” से लिया गया है. इसका अर्थ है Calculation करना या गणना करना.

इसका मुख्य तोर से तीन काम है. पहला डाटा को लेना जिसे हम Input भी कहते है. दूसरा काम उस डाटा को Processing करने का होता है और आकिर काम उस processed डाटा को दिखाने का होता है जिसे Output भी कहते हैं.

Input Data → Processing → Output Data

मॉडर्न Computer का जनक Charles Babbage को कहा जाता है. क्यूंकि उन्होंने ही सबसे पहले Mechanical Computer को डिजाईन किया था, जिसे Analytical Engine के नाम से भी जाना जाता है. इसमें Punch Card की मदद से डाटा को insert किया जाता था.

तो Computer को हम एक ऐसा advanced इलेक्ट्रॉनिक device कह सकते हैं जो की Raw data को input के तोर में User से लेता है. फिर उस data को program (set of Instruction) के द्वारा प्रोसेस करता है

और आखिर के परिणाम को Output के रूप में प्रकाशित करता है. ये दोनों Numerical और Non numerical (Arithmetic and Logical) calculation को process करता है. Computer क्या है?

Computer Full Form (Full Form of Computer)

जब भी आपलोग Computer का नाम सुनते है तो आपके दिमागी में जरूर आता होगा की कम्यूटर का फुल फ्रॉम क्या होता है तो मैं बता दू की तकनिकी रूप से Computer का कोई  Full Form नहीं होता

फिर भी आपकी जानकारी के लिए बता दू  की काल्पनिक रूप से Computer का Full Form  ये होता है :-

Common Operating Machine Purposely Used for Technological and Educational Research.

अगर आप इसे हिंदी में ट्रांसलेट करेंगे तो इसका हिंदी मतलब कुछ ऐसा होगा (तकनीकी और शैक्षिक अनुसंधान के लिए उद्देश्यपूर्ण रूप से उपयोग की जाने वाली सामान्य ऑपरेटिंग मशीन।)

Computer का अविष्कार किसने किया?

Computer को बनाने की शुरुआत 1830 के समय में Charles Babbage के द्वारा शुरू की गई थी. उन्होंने एक Analytical Engine बनाने की Planning की थी जो कि Computer के Field में एक शुरुआत थी.

फिर उन्होंने इस Device के लिए काम करना शुरू कर दिया और 1822 में उन्होंने Difference Engine का आविष्कार किया जिसे सबसे पहला Programmable Computer माना जाता है.

1833 में Charles Babbage ने Analytical Engine का आविष्कार किया जो कि एक General-Purpose Computer था लेकिन पैसे की कमी होने के कारण वह इस काम को पूरा नहीं कर सके.

उसके बाद 1871 में Charles Babbage की मौत हो गई. इसीलिए कम्प्यूटर का जनक “चार्ल्स बैबेज” को माना गया है. Computer क्या है?

Computer की परिभाषा

वैसे कहे तो कप्यूटर की बहुत सारी परिभाषाये है लेकिन मैं आपको सिंपल कप्यूटर की परिभाषा बताऊंगा।

Computer की परिभाषा :- Computer एक मशीन है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर जैसे Components से मिलकर बना होता है। एक Computer इनपुट यूनिट के माध्यम से डेटा प्राप्त करता है

जो उसे दिए गए निर्देशों के आधार पर होता है और डेटा को process करने के बाद, इसे आउटपुट डिवाइस के माध्यम से वापस भेजता है।

Computer के प्रकार (Types  of  Computer)

जैसा की आपको पता है की कप्यूटर को उसके काम के आधार पर अलग अलग भागों में बाटा गया है। उपयोग तथा आकर के आधार पर Computer चार प्रकार के होते है

1.Micro Computer or Personal Computer

2.Mini Computer

3.Mainframe Computer

4.Super Computer

1.Micro Computer or Personal Computer

एक ऐसा Computer है जिसमें माइक्रो-प्रोसेसर इसके सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के रूप में होता है। मेनफ्रेम और मिनी कंप्यूटरों की तुलना में इनका आकार छोटा होता है।

इसमें इनपुट के लिए कीबोर्ड तथा आउटपुट देखने के लिए मॉनिटर का उपयोग होता है।  इसकी छमता 1 लाख संक्रियाएँ प्रति सेकंड होती है।

इसका उपयोग व्यावसायिक तौर पर , घरो में , मनोरंजन , चिकित्सा आदि के क्षेत्र में होता है

2.Mini Computer

ये आकर के काफी छोटे होते है।  इसकी संग्रहण क्षमाता और गति अधिक होती है। इसपर एक साथ कई लोग काम कर सकते है , 80386 सुपर चिप का प्रयोग इसमें करने पर यह सुपर मिनी Computer में बदल जाता है। इसका उपयोग कपनी , यात्री , अनुसंधान में होता है। Computer क्या है?

3.Mainframe Computer

मेनफ्रेम कम्प्यूटर (Mainframe computers) उन कम्प्यूटरों को कहते हैं जिनका उपयोग बड़े-बड़े संस्थान भारी-मात्रा में  आंकड़ा संस्करण के लिए करते हैं।

इनका आकार भी बड़ा होता है और लगभग सभी दृष्टियों से इनकी क्षमता अन्य कम्प्यूटरों (मिनी, सर्वर, वर्कस्टेशन और पीसी) की अपेक्षा बहुत अधिक होती है।

इन सिस्टम पर कई लोग अलग अलग कार्य कर सकते है इसके लिए मालिटक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण बेल प्रयोगशाला में किया गया।  इसका उपयोग मुख्या रूप से बैंकिंग , अनुसंधान , रक्षा , अंतरिक्ष इत्यादि के क्षेत्र में होता है।

4.Super Computer

आधुनिक परिभाषा के अनुसार, वे Computer, जो 500 मेगाफ्लॉप की क्षमता से कार्य कर सकते हैं, सुपर Computer कहलाते है। सुपर Computer एक सेकंड में एक अरब गणनाएं कर सकता है। इसकी गति को मेगा फ्लॉप से नापते है।

इसका उपयोग खासकर ऐसे क्षेत्रों में किया जाता है, जिनमें कुछ ही क्षणों में बड़े पैमाने पर गणनाएं करने की जरूरत पड़ती है। ऐतिहासिक रूप से इसका उपयोग मौसम की भविष्यवाणी करने,

वायुगतिक गणनाएँ तथा परमाणु अस्त्रों के सिमुलेशन करने आदि के लिये किया जाता रहा है। आजकल इसका उपयोग उन क्षेत्रों में होता है जिनमें बहुत अधिक गणना करनी होती है या बहुत भारी मात्रा में आंकड़ों का प्रसंस्करण करना होता है।

Computer हार्डवेयर और सॉफ्टवेर

हार्डवेयर :-

कम्प्यूटर के वे भाग जिन्हे हम देख तथा छू सकते है उन्हे हार्डवेयर कहते हैं. यह कम्प्यूटर के भौतिक भाग होते है. जिनसे मिलकर हमारे कम्प्यूटर का शरीर बनता हैं. जैसे; कीबोर्ड, माउस, केबिनेट, मॉनिटर, प्रिंटर आदि सभी हार्डवेयर है. Computer क्या है?

सॉफ्टवेर :-

सॉफ्टवेर Computer का वह Part होता है जिसको हम केवल देख सकते हैं और उस पर कार्य कर सकते हैं,पर छू नहीं सकते,  Software का निर्माण Computer पर कार्य करने को आसान बनाने के लिये किया जाता है। ये कुछ उदाहरण है।

  • MS WORD
  • MS PowerPoint.
  • MS Access.
  • MS Outlook.
  • MS Paint.

Computer कैसे कार्य करता है?

Computer इनपुट और आउटपुट डिवाइस के मदद से उपयोगकर्ता द्वारा दिए काम को करता है. Computer में किसी भी कार्य को करने के लिए यूजर सबसे पहले इनपुट डिवाइस जैसे कीबोर्ड, माउस, स्कैनर की मदद से अपना इनपुट डाटा, इंफॉर्मेशन और प्रोग्राम Computer में डालते हैं.

फिर Computer यूजर द्वारा दिए गए इंफॉर्मेशन, डाटा, प्रोग्राम, को अपने प्रोसेसर के मदद से दिए गए काम को पूरा करता है, और फिर कार्य करने के बाद Computer रिजल्ट को आउटपुट डिवाइस जैसे मॉनिटर, प्रिंटर के मदद से यूजर को दिखा देता है. Computer क्या है?

Computer का उपयोग

हर कोई कम्प्यूटर का उपयोग अपने हिसाब से अलग-अलग कार्यों के लिए करता है. शिक्षक, लेखक तथा वैज्ञानिक शोध के लिए कम्प्यूटर का उपयोग करते है. वहीं इंजिनियर्स, डिजाइनर्स अपने डिजाइन बनाने के लिए कम्प्यूटर का इस्तेमाल करते है.

कम्प्यूटर के उपयोग से हमारे कार्यों में गति (Speed) एवं शुद्धता (Accuracy) आ जाती है।  कप्यूटर का उपयोग कुछ ऐसे कार्यो में लिया जाता है। जैसे

  • दैनिक जीवन में उपयोग
  • शिक्षा के क्षेत्र में उपयोग
  • चिकित्सा के क्षेत्र में उपयोग
  • बैंकिंग के क्षेत्र में उपयोग
  • व्यापार के क्षेत्र में उपयोग
  • सरकारी कार्यालयों में उपयोग
  • मनोरंजन के क्षेत्र में उपयोग
  • रक्षा और सैन्य क्षेत्र में उपयोग

Computer के लाभ

Computer एक ऐसा उपकरण जिसने मानव द्वारा किये जाने लगभग सभी कामों पर कब्जा कर लिया हैं. और यह कार्य उसकी कुछ विशेषताओं के कारण ही हुआ हैं. नीचे कम्प्युटर के फायदों के बारे में बताया गया है।

  • यह संचार का सबसे अच्छा माध्यम है।
  • इससे किसी भी संसाधन को साझा करने में आसानी होती है।
  • यह सभी प्रकार के फाइल को साझा करने की बेहतरीन मशीन है।
  • यह एक सस्ता यंत्र है।
  • इससे समय की बचत होती है।
  • इसमें डॉक्यूमेंट रखने के लिए बहुत जगह होती है।
  • इसे बहुत आसानी से समझकर इस पर कार्य किया जा सकता है।

Computer के हानि

शुरू में जब हम Computer खरीदते है तो Computer को चलाने में बहुत मजा आता है लेकिन  शायद आपको पता नहीं है की कप्यूटर चलाने से सिर्फ फायदें ही नहीं हानि भी है। अब आप जान लीजिये की हानि कैसे है ? निचे हानि के बारे में बताया गया है।

  • गलत तरीके से उपयोग करने पर समय की बर्बादी होती है।
  • इससे शारीरिक गतिविधियों में कमी होती है।
  • रक्त परिसंचरण सही से नहीं हो पता है।
  • ज्यादा भोजन खाना और मोटापा बढ़ना।
  • कमर और सर में दर्द की शिकायत।
  • आँखों या दृष्टि में कमजोरी होना।
  • अनिद्रा की असुविधा होना।
  • अगर आप लैपटॉप को अपने जांघ पर रखकर प्रयोग करते है तो नपुंसक हो सकते है।

Computer के भविष्य

आने वाले दिनों में आप Computer व रोबॉट से उसी तरह बात कर पाएंगे जैसे किसी दोस्त या रिश्तेदार से करते हैं। अमेरिका के डिफेंस एडवांस्ड प्रोजेक्ट्स एजेंसी (DARPA) ने इस सिलसिले में एक नया कार्यक्रम शुरू किया है,

जिसके तहत कंप्यूटर्स से ये अपेक्षा की जाएगी कि वे न केवल बातचीत करें, बल्कि चेहरे के हाव-भाव भी बातचीत के अनुसार ही रखें।

DARPA के कम्युनिकेटिंग विद कंप्यूटर्स (CWC) प्रोग्राम मैनेजर पॉल कोहेन ने बताया कि आज हम कंप्यूटर्स को एक टूल के रूप में देखते हैं और भाषाई बाधा के कारण उनके और हमारे बीच में एक दूरी है। 

हमारा उद्देश्य इस दूरी को खत्म करना है और इस दिशा में काम करते हुए दूसरी नई तरह की प्रॉब्लम सॉल्विंग टेक्नॉलजी डिवेलप करने को प्रोत्साहन देना है। उन्होंने बताया कि Computer आधारित मॉडल बनाकर उसे कैंसर रिसर्च में प्रयोग किया जा सकता है।

DARPA द्वारा पूर्व में कॉम्प्लिकेटेड मॉलिक्यूलर प्रॉसेस का मॉडल तैयार किया है, जिससे बॉडी सेल्स कैंसर का कारण बन जाती हैं।

आपने क्या सीखा

अब मुझे उम्मीद है की अब आप ये समझ गए होंगे की Computer क्या है? Computer की बेसिक जानकारी।

मेरा आप सब से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, इससे सबको जानकारी मिलेगी और सब जागरूक होंगे

यदि आपके मन में इस Article को लेकर कोई भी प्रकार का Doubts हैं या आप चाहते हैं की इस आर्टिकल में कुछ सुधार होनी चाहिए या इसके बारे में और लिखा जा सकता है तो आप नीच Comments लिख सकते हैं.

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.