LED क्या है? (LED Meaning In Hindi)

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका इस नए ब्लॉग आर्टिकल में इस आर्टिकल में आप जानेगे की LED क्या है? (LED Meaning In Hindi) LED कैसे काम करती है?

आज के ज़माने में मार्केट में कई प्रकार के Light आ गई है और उन्ही Light में से एक लाइट है LED । LED का नाम अपने तो जरूर सुना होगा या इस्तेमाल भी किये होंगे

वैसे तो आप लोग LED के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी तो जरूर रखते होंगे। क्यूंकि घरों में इस्तेमाल होने वाली बहुत सारी चीजों में LED का इस्तेमाल भी किया जाता है।

अगर आपको नहीं पता की LED क्या है? (LED Meaning In Hindi) LED कैसे काम करती है? तो कृपया करके इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए

क्युकी इस आर्टिकल में LED से जुडी हर जानकारी दी गई है जैसे LED क्या है? LED कैसे काम करती है? LED का फुल फॉर्म क्या होता है? LED Full Form In Hindi, LED कितने प्रकार के होती है?

तो आइये शुरू करते है और जानते है LED क्या है?

LED क्या है? (LED Meaning In Hindi)

(LED Meaning In Hindi)

LED का पूरा नाम Light Emitting Diode है, जो की एक सेमीकंडक्टर डिवाइस है जिसे हिंदी में प्रकाश उत्सर्जक डायोड कहा जाता है। यह एक प्रकार का अर्धचालक (Semiconductor Device) उपकरण होता है।

जोकि प्रकाश का उत्सर्जन (Emitting) करता है जब इसके अंदर से विद्युत का प्रवह होता है। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में इसका इस्तेमाल देखने को मिलता है।

LED का आकर छोटा होता है। इसके अविष्कार के लिए Nobel Prize भी दिया गया है

LED प्रकाश उत्सर्जन यंत्र की तुलना में कम विद्युत खर्चा करता है। इसके साथ ही इसका जीवनकाल लंबा, उन्नत और आकार में काफी छोटा होता है।

एक साधारण Bulb लगभग 1000 घंटे तक प्रकाश दे सकती है, लेकिन LED 100000 घंटे तक प्रकाश देने में सक्षम होते हैं।

ये तो आप समझ गए की LED क्या है? चलिए अब इसके प्रकार के बारे में जानते है।

LED के प्रकार

जबसे LED s का आविस्कार हुआ है तब से इसमें बहुत से बदलाव देखने को मिले है और इसके कई Variety भी आ गए है जिसमें की इनके अलग-अलग Properties होते हैं और Application होते हैं.

  1. Traditional Inorganic LED s
  2. High Brightness LED s
  3. Organic LED s

1.Traditional Inorganic LED s

यह LED मुख्यतः Diode का Traditional Form होता है जो की 1960s से उपलब्ध है। इन्हें Inorganic Materials के इस्तमाल से बनाया जाता है.

यहाँ सबसे ज्यादा इस्तमाल में आने वाले Compound Semiconductors हैं वो हैं Aluminium Gallium Arsenide, Gallium Arsenide Phosphide, इत्यादि.

यहाँ इन LED s का Colour निर्भर करता है की किन Materials का इस्तमाल हो रहा है. इन Inorganic LED के कई Category होते हैं और ये बहुत से Style में आता है :

Surface Mount LED s

Single Colour 5 Mm, Etc – ये Traditional LED Package होता है

Bi-Colour और Multicolor LED s – इन Types Of LED s में बहुत से Individual LED s को एक साथ रखा जाता है और उन्हें Turn On किया जाता है अलग Voltages के माध्यम से.

Flashing LED s – जिसमें की छोटे Time Integrated किया गया होता है इनके Package में

Alphanumeric LED Displays

2.High Brightness LED s

ये भी Inorganic LED का एक Type होता है जिन्हें की Lighting Applications के लिए उपयोग किया जाता है. 

और ये LED भी Basic Inorganic LED के समान होता है लेकिन इसमें Greater Light Output होती है.

Higher Light Output पैदा करने के लिए इन LED s को ज्यादा Higher Current Levels और Power Dissipation का सहन करना पड़ता है.

इन्हें Heatsink के ऊपर Mount किया जाता है जिससे की Unwanted Heat को बहार निकाला जा सके. इन Lights का इस्तमाल Traditional Lights के जगह पर होता है.

3.Organic LEDs

Organic LED s Basic Light Emitting Diode का थोडा Advanced Version होता है. इन LED s में Organic Materials का इस्तमाल होता है

जैसे की इसके नाम से पता चलता है. Organic Type Of LED Display Based होते हैं Organic Materials के ऊपर जिन्हें की Sheets के मदद से Manufacture किया जाता है और जो एक Diffuse Area Of Light प्रदान करती है.

यहाँ Typically एक बहुत ही पतली Organic Material की Film को Print किया जाता है Substrate में जो की Glass से बना होता है.

फिर एक Semiconductor Circuit का इस्तमाल किया जाता है जिससे की Electrical Charges को Imprinted Pixels तक लाया जा सके, जो की इसे Glow करने में मदद करते हैं.

ऐसे ही धीरे धीरे LED Technology को Improve किया जा रहा है जिससे की इनकी Efficiency Level को बढाया जा सके और इन्हें और ज्यादा इस्तमाल में लाया जा सके.

LED कैसे काम करती है?

किसी भी LED में दो तरह के अर्धचालक (Semiconductor) Light Source का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके चलते इसे P-N Junction Diode भी कहते हैं।

दोनों Junction को Voltage Source दिया जाता है तो यह प्रकाश का उत्सर्जन करते हैं। LED को बनाने के लिए जिस पदार्थ का इस्तेमाल किया जाता है

वह एक तरीके से अर्धचालक होता है। जिसमें मुख्य द्वार पर Alluminium-Gallium Arsenides (Algaas) होती है।

जिसके चलते कोई भी एलईडी ऊर्जा का उत्सर्जन Photons के रूप में करते हैं। इस Effect को Electroluminescence Effect भी कहते हैं। (LED Meaning In Hindi)

LED का अविष्कार किसने किया?

LED का अविष्कार इलेक्ट्रिक के एक परामर्श इंजीनियर निक होलोनीक ने पहली दृश्यमान प्रकाश एलईडी का आविष्कार 1962 में किया था।

यह एक लाल एलईडी थी और होलोनीक ने डायोड के लिए एक सब्सट्रेट के रूप में गैलियम आर्सेनाइड फॉस्फाइड का इस्तेमाल किया था।

आपके जानकारी के लिए बता दू निक होलोनिक का जन्म 3 नवंबर, 1928 को हुआ था। (LED Meaning In Hindi)

LED Full Form (LED Full Form In Hindi)

LED का Full Form Light Emitting Diode है, जिसे हिंदी में प्रकाश उत्सर्जक डायोड कहा जाता है। यह एक प्रकार का अर्धचालक (Semiconductor Device) उपकरण होता है।

LED को सबसे पहली बार कब दुनिया में लाया गया था?

LED को पहली बार दुनिया में सन 1907 में लाया गया जब British Scientist H.J.Round के द्वारा Elecluminescence की खोज Marconi Labs में हुई

आपने क्या सीखा

अब मुझे उम्मीद है की अब आप ये अच्छे से समझ गए होंगे की की LED क्या है? (LED Meaning In Hindi) LED कैसे काम करती है? LED का Full Form क्या होता है।

मेरा आप सब से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, ताकि इससे किसी की मदद हो सके,

यदि आपके मन में इस आर्टिकल को लेकर किसी भी प्रकार का Doubts हैं या आप चाहते हैं की इस आर्टिकल में कुछ सुधार होनी चाहिए या इसके बारे में थोड़ा और लिखा जा सकता है तो आप बेझिझक निचे Comment कर सकते है।

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.